info@msalam.biz

आरक्षण हेतु आंदोलन, आंदोलन के लिए बलवा, उचित नहीं, निरर्थक ज़रूर !

                  निर्वाचित सरकार और नेताओं के राज – धर्म की ये कैसी प्रवृत्ति जो हरियाणा की जनता ने झेला है ? क्या राज्य की कार्यपालिका और पुलिस-प्रशासन ने राज्य की दशा हेतु सही दिशा में फ़र्ज़ को अंजाम दिया है ? क्या हालात पर क़ाबू पाने के […]

Read More »

न राम की भक्ति होगी, न खुदा की इबादत होगी, क्या ताउम्र इस ज़मीन पर वोटों की सियासत होगी ?

                   बेशक कलराज मिश्रा, साक्षी महाराज, साध्वी प्राची, निरंजना ज्योति, सुब्रमण्यम स्वामी आदि की तुलना में राजनाथ सिंह बीजेपी और मोदी सरकार दोनों में ही कहीं ज़्यादा रसूख़ वाले नेता हैं. उनके द्वारा राम मन्दिर को लेकर दिया गया बयान तकनीकी तौर पर भी सटीक बैठता है. […]

Read More »

कठिन है डगर विकास की !

क्या देश को देखने का नजरिया अब भी जाति, धर्म या किसान-मज़दूर में बंटा हुआ है ? सियासी बूटी में ऐसा कौन सा गुण है जो राजनीति को रहत तो देता है लेकिन समाज को सुख नहीं दे पाता, क्यों ? दलित आज तक समाज की मुख्य धारा से क्यों महरूम हैं  ? राजनीति साधने हेतु […]

Read More »