info@msalam.biz

क्योंकि रेप अपने आप में ही क्रूरता की सारी हदें पार कर रहा है !

सभ्य समाज से प्रश्न है कि रेप या यौन हिंसा आखिर है क्या ? क्या ये समाज की जननी अर्थात स्त्री पर हावी होने की प्रवृत्ति मात्र है ? या फिर पुरुष का खुद के बड़ा, असरदार होने का अक्षम्य दंभ ? या फिर औरत को संपत्ति समझने की भूल ? आखिर कैसे हमारा कानून […]

Read More »